हमारे साथ व्यापार करना

सम्पत्ति मालिक: हमारे महत्वपूर्ण सहयोगी।

हमारी स्थायी साझेदारियां हमें डिजिटल दुनिया की असीम संभावनाओं के साथ प्रत्येक भारतीय को जोड़ने में हमें सक्षम बनाती हैं। इन साझेदारियों के बीच, हमारे सम्पति-मालिकों के साथ हमारे संबंध हमारी निर्बाध राष्ट्रव्यापी सेवा का आधार बनते हैं - वे नींव हैं जिस पर हमारी पूरी संरचना टिकी हुई है।

इंडस के ग्राहक और रणनीतिक साझेदार

सम्पति-मालिक इंडस परिवार के लिए एक महत्वपूर्ण हितधारक समूह हैं। स्थायी और सफल व्यावसायिक लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए, सम्पति-मालिकों के साथ हमारे संबंध बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

मकान-मालिक न केवल हमारे ग्राहक हैं, बल्कि हमारे व्यापारिक विकास की यात्रा में रणनीतिक भागीदार भी हैं। हम 139,977 से अधिक मकान मालिकों के साथ काम करते हैं और यह सुनिश्चित करने के लिए अपने सिस्टम में लगातार सुधार कर रहे हैं कि हम उनमें से प्रत्येक को सही अनुभव प्रदान करें।

1800 102 1666 (टोल-फ्री हेल्पलाइन)

आई-केयर हेल्पडेस्क

एक अग्रणी कदम के रूप में, इंडस ने सम्पति मालिकों की संतुष्टि के स्तर को चिन्हित (बेंचमार्क) करने के लिए आई-केयर नामक एक समर्पित हेल्प डेस्क की स्थापना की हैं।

रिश्ते के प्रबंधन की बढ़ती जटिलता को देखते हुए, हमारे मौजूदा और भावी सम्पति मालिकों द्वारा उठाए गए सभी प्रश्नों और शिकायतों को अब प्रभावी रूप से आई-केयर हेल्पडेस्क द्वारा देखा (संभाला) जाता है। हमारी इस पहल से सम्पति-मालिक खुश हुए हैं और सम्पति-मालिकों और इंडस के संबंधों में परस्पर मजबूती आई। 2016-2017 में, आई-केयर ने 19,773 कॉल्स को संभाला जिसकी रिज़ॉल्यूशन दक्षता 99% है।

मकान-मालिक संबंध प्रबंधन (एलएलआरऍम)

यह सम्पति-मालिकों के साथ बातचीत और विचार विमर्श की गतिविधियों में सुधार लाने के उद्देश्य से शुरू किया गया था. इसका उद्देश्य सम्पति-मालिकों को उनके द्वारा किये गए समर्थन के बदले में प्रसन्नता प्रदान करना था।

5 सरल कदमइंडस परिवार का हिस्सा बनने के लाभों को साझा करने के लिए

इंडस टावर्स "संपत्ति मालिकों" के पृष्ठ पर आपका स्वागत है। उद्योग में हमारी अग्रणी स्थिति 100,000 (एक लाख) से अधिक भूमि मालिकों के साथ पारस्परिक रूप से लाभप्रद संबंधों के बिना संभव ही नहीं होगी। हम भावी संपत्ति मालिकों के साथ अपने संबंधों को और भी आगे बढ़ाना चाहते हैं और संयुक्त रूप से भारत की कनेक्टिविटी को बढ़ाना चाहते हैं।

इच्छुक मकान मालिक नीचे अपनी संपत्ति का विवरण प्रदान कर सकते हैं। हमारी कोशिश है कि साइट के स्थानों की हमारी मौजूदा आवश्यकता को पूरा करने के लिए पारस्परिक रूप से सहमत शर्तों पर दीर्घकालिक समझौता किया जाए।

> पढ़ें / डाउनलोड करें

भूस्वामी (मकान-मालिक) की विवरणिका

यहां अपनी संपत्ति पंजीकृत करें>

1. संपत्ति का नाम


नोट: हमारी विशिष्ट प्लॉट आकार की आवश्यकता 2000 वर्ग फीट और इमारत (छत) 500 वर्ग फीट है।


टॉवर मालिकों के प्रकार

हमारे सम्पति मालिकों कई प्रकार के है - किसान, व्यक्तिगत घर के मालिक और निजी और सरकारी प्रतिष्ठान।

इंडस ने दिल्ली मेट्रो, दिल्ली विकास प्राधिकरण, अहमदाबाद नगर निगम, नागपुर नगर निगम, मुंबई मेट्रो, बेंगलुरु मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन और भटिंडा, दिल्ली, पुणे, लुधियाना, चंडीगढ़, हैदराबाद, अहमदाबाद, कैम्पटी, चेन्नई और कोचीन और विभिन्न रक्षा प्रतिष्ठानों में संस्थानों के साथ करार किया है - अपने परिसर में दूरसंचार टावर स्थापित करने के लिए।

इंडस के साथ साझेदारी सम्पति मालिकों को बढ़ी हुई कनेक्टिविटी, एक नियमित किराये की आय और (शैक्षिक संस्थानों के मामले में) छात्रों के लिए साइट के दौरा का अवसर प्रदान करती है। सबसे महत्वपूर्ण बात, यह सम्पति मालिकों को भारत के बुनियादी ढांचे के निर्माण में भाग लेने का अवसर प्रदान करता है।

सरकार

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीऍमआरसी), लखनऊ कैंटोनमेंट, मुंबई पोर्ट ट्रस्ट, बैंगलोर मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन सरकार के स्वामित्व वाली कुछ साइटें हैं।

इन साइट्स को अपने वर्ग में सर्वश्रेष्ठ रूप में बनाए रखा जाता है और इन टावरों के संचालन और रखरखाव के मामले में न्यूनतम प्रभाव होता है। वहाँ विभिन्न टॉवर विकल्प उपलब्ध हैं जैसे कि एक कामोफ्लाजेड (छुपा हुआ) मोनोपोल, एक ग्राउंड-बेस्ड (ज़मीन-आधारित) टॉवर या एक रूफ-टॉप (छत वाली) टॉवर।

हम एक व्यावसायिक मॉडल के साथ सरकार और कॉर्पोरेट साइटों के माध्यम से देश भर में अपने प्रतिष्ठानों का विस्तार करने का प्रस्ताव रखते हैं जो कि दूरसंचार पारिस्थितिकी तंत्र से जुड़े सभी हितधारकों को लाभान्वित करेगा।

सम्पति मालिक के लिए हेल्पडेस्क

आई-केयर कॉल सेंटर

इसके अलावा, सम्पत्ति मालिकों की बिरादरी और उनके अन्य सेवा अनुरोधों से निकलने वाले प्रश्नों को हल करने में सहायता प्रदान करने के लिए, इंडस ने एक अत्याधुनिक कॉल सेंटर: आई-केयर की स्थापना की है। भारत को ध्यान में रखते हुए, जो की विभिन्न भाषाओं का देश है, और सम्पत्ति मालिकों से प्रश्नों को हल करने में आसानी हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है, हमारे कॉल सेंटर में एक इनबिल्ट सिस्टम है जो सम्पत्ति मालिकों को उनकी पसंदीदा भाषा में हमारे कॉल सेंटर के साथ संवाद करने में सक्षम बनाता है। औसतन, आई-केयर प्रति दिन 180 से अधिक इनबाउंड कॉल संभालती है।

विद्युत चुम्बकीय (इलेक्ट्रोमैग्नेटिक) क्षेत्र और सार्वजनिक स्वास्थ्य:

मोबाइल फ़ोन्स

पढ़ें / पीडीएफ डाउनलोड करें>

प्र. क्या इंडस दूरसंचार विभाग (DoT), सरकार द्वारा निर्धारित विकिरण मानदंडों का अनुपालन करता है?

प्र. आप (मकान मालिक) को भुगतान कैसे किया जाएगा?

प्र. क्या हर दिन टावर मेंटेनेंस होगा?

प्र. क्या आप सरकारी नियमों का अनुपालन करते हैं?

प्र. क्या आप अन्य ऑपरेटरों को भी अपना परिसर किराये (उप-पट्टे) पर देंगे?

प्र. शहरों में बहुत सारे टॉवर अभी भी दिखाई दे रहे हैं। आप और टॉवर क्यों लगाना चाहते हैं?

प्र. आप लीज एग्रीमेंट क्यों रजिस्टर करते हैं?